No icon

खुश्बू................. जीने का आ जाये मज़ा अगर खाने को मिल जाये समोसा ,samosa

खुश्बू................. जीने का आ जाये मज़ा अगर खाने को मिल जाये समोसा ,samosa

तो आज आप कौन सा समोसा खाना पसंद करेंगें ?
आलू समोसा , नूडल समोसा , चिली चिकेन समोसा , तंदूरी पनीर समोसा , कश्मीरी चिली चिकेन समोसा , बेक्ड चिकेन समोसा , चीज़ चिकेन समोसा !

वैसे तो समोसा हर मौसम में खाने में अच्छा लगता है ,लेकिन बारिश और ठण्ड के दिनों में गरमा गरम चाय के साथ अगर कोई चटपटे समोसे खिलादे तो मज़ा ही आ जाता है . कहा जाता है की समोसे का जन्म मिडिल ईस्ट में दसवीं शताब्दी से भी पहले हुआ था , जहाँ इसका नाम सम्बोसा था

, इसे भारत में मध्य एशिया के व्यापारी कोई तेरहवी या चौदहवी शताब्दी में अपने साथ लाये थे , इसका वर्णन इतिहास के पन्नों में भी दर्ज़ है . आज समोसा हमारे देश का एक ऐसा स्नैक बन गया है जिसे हर गली मोहल्ले में खाया जाता है . यहाँ तक की समोसा सिर्फ भारत में ही नहीं अन्य कई देशों में भी बनाया , खाया जाता है पर उसके नाम अलग अलग हैं

, जैसे बांग्लादेश में सिंघाड़ा , पुर्तगाल में चमूकास , उज़्बेकिस्तान , कज़ाकिस्तान में समसास, मालदीव्स में बजिया , साऊथ अफ्रीका में सामूसा, यूएस और केनेडा में सम्बुसा या सम्बुसैक आदि अनेक नाम है .

तो अगली बार आप इनमे से किसी भी जगह पर जाएँ तो समोसा खाना न भूलें.

 

 

Comment